14/9/16

पास बैठो तबीयत बहल जायेगी - paas baiTho tabiiyat bahal jaayegii : Punar Milan / Lyricist: इन्दीवर-(Indeevar)




पास बैठो तबीयत बहल जायेगी
मौत भी आ गई हो तो टल जायेगी

धार काजल की तुम और तीखी करो
माँग होंठों की मीठी हँसी से भरो
ज़िंदगी झूमने पर मचल जायेगी 
मौत भी आ गई हो तो टल जायेगी ...




हम ने माना कि छाई है काली घटा
गोरे गालों से गेसू हटा दो ज़रा
इस अँधेरे में इक शम्मा जल जायेगी
मौत भी आ गैइ हो तो टल जायेगी ...

ग़म ने छेड़ा हमें, तुम न छेड़ा करो
जो तुम्हारे हैं उन से न पर्दा करो
मुस्कुरा दो तमन्ना निकल जायेगी
मौत भी आ गई हो तो टल जायेगी
पास बैठो ...
एक टिप्पणी भेजें